पुलिसकर्मी और उसकी पत्नी की हत्या, बेटी घर से गायब, जांच में पता चली ये बात

एरोड्रम थाना क्षेत्र के रूकमणी नगर में रहने वाले आरक्षक और उनकी पत्नी का रक्तरंजित गुरुवार सुबह उनके घर में पड़ा मिला।

इंदौर। एरोड्रम थाना क्षेत्र के रूकमणी नगर में रहने वाले आरक्षक और उनकी पत्नी का रक्तरंजित गुरुवार सुबह उनके घर में पड़ा मिला। घटना के चलते पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शुरूआती जांच के बाद घटना को अंजाम देने में परिचित पर ही शंका जताई है। वहीं घटना के बाद से ही आरक्षक की 17 वर्षीय नाबालिग बेटी गायब है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जल्दी ही इस दोहरे हत्याकांड  की गुत्थी सुलझा ली जाएगी और आरोपित गिरफ्त में होंगे।
Constable and wife brutally murdered
सुबह करीब साढ़े दस बजे पुलिस को सूचना मिली थी कि रूकमणी नगर में रहने वाले 15 वीं बटालियन में पदस्थ आरक्षक ज्योतिप्रसाद और उनकी पत्नी नीलम के रक्त रंजित शव घर के कमरे में पड़े हुए हैं। सूचना मिलते ही एरोड्रम थाना प्रभारी राहुल शर्मा अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और इसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को देते हुए मामले में जांच शुरू की। दोहरे हत्याकांड की जानकारी के बाद मौके पर प्रभारी एएसपी राजेश व्यास और सीएसपी पहुंचे। इसके बाद डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र भी यहां पर पहुंचे और अधीनस्थ अधिकारियों को हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने के संबंध में निर्देश दिए।

दादा-दादी के पास सोया था बेटा

डीआईजी ने बताया कि संभवत:पारिवारिक विवाद के कारण देर रात हत्या की गई है। सूत्रों के अनुसार मकान दो भाग में है। एक में ज्योतिप्रसाद के माता-पिता रहते हैं, जबकि दूसरे भाग में आरक्षक अपने 18 साल के बेटे और 17 साल की बेटी सहित पत्नी के साथ रहते थे। बेटा दूसरे भाग में अपने दादा-दादी के साथ सो रहा था, जबकि बेटी घटना वाले घर पर थी।

बेटा पहुंचा तो घटना का पता चला

सुबह बेटा उठा और अपने माता-पिता को जगाने के लिए पहुंचा तो बाहर से कमरे का ताला लगा हुआ था। इस पर उसने कमरे की खिड़की से अंदर झांका तो अंदर का नजारा देखकर उसके मुंह से चीख निकल गई। यहां पर माता-पिता की खून से सनी लाशें पड़ी हुई थी। उसकी आवाज सुन पड़ोसी मौके पर पहुंचे। उन्होंने तत्काल डायल-100 को को कॉल किया। पुलिस ने मामले में जांच की तो पता चला कि दंपति की 17 साल की बेटी घर पर नहीं है, जबकि रात में वह अपने माता-पिता के साथ ही सोई थी।

सुबह जल्दी उठते थे दंपति

आसपास के लोगों का कहना है कि शर्मा दंपती प्रतिदिन अलसुबह ही उठ जाया करते थे। गुरुवार को दिन निकलने के बाद भी इनका दरवाजा नहीं खुला। बेटे के आने के बाद जब दरवाजा खोला गया तो यहां खून से सनी लाश पड़ी थी।

सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले

मौके पर एफएसएल टीम भी पहुंची और जांच की। पुलिस ने दंपति के शवों को पोस्टमार्टम के लिए पहुंचाया और घटना से संबंधित सुराग तलाशने के लिए घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज भी खंगाले। बताया जाता है कि पुलिस को कुछ महत्वपूर्ण सुराग हाथ लगे हैं।

सुबह दिखाई दी थी बेटी

घटना के बाद से गायब आरक्षक की बेटी का भी पुलिस पता लगा रही है। आसपास रहने वाले लोगों का कहना है कि बेटी सुबह करीब 4 बजे बाहर पालतू कुत्ते को घुमाती हुई दिखाई दी थी। इस दौरान भी उसके घर से कुछ चिल्ला-चोट की आवाजें आ रही थी। पूछने पर लड़की का कहना था कि पापा-मम्मी के बीच विवाद हो रहा है। इसके बाद से वह दिखाई नहीं दी, जबकि कुत्ता घर की छत पर बंधा मिला।

जल्द होगा हत्याकांड का खुलासा

मामले में डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र का कहना है कि आरक्षक और उनकी पत्नी की हत्या के मामले में ठोस सुराग हाथ लगे हैं। 24 घंटों में ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा और आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होंगे। सूत्रों के मुताबिक घटना में किसी धनंजय नामक युवक का नाम भी सामने आ रहा है।
माना जा रहा है कि वह आरक्षक की लड़की का परिचित हैं। हालांकि पुलिस ने इस संबंध में कोई खुलासा नहीं किया है। वहीं पुलिस अधिकारियों का कहना है कि गायब लड़की का पता लगाया जा रहा है। उसके मिलने के बाद हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने में काफी मदद मिलेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button