Prashant Kishor राहुल गांधी से मिले, सियासी अटकलों का बाजार गर्म बनेंगे कांग्रेस के खेवनहार!

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मुलाकात की। इस दौरान प्रियंका गांधी, हरीश रावत और केसी वेणुगोपाल भी मौजूद थे।

नई दिल्‍ली। चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मुलाकात की। इस दौरान प्रियंका गांधी, हरीश रावत और केसी वेणुगोपाल भी मौजूद थे। इस मुलाक़ात के बाद सियासी अटकलों का बाजार सरगर्म हो गया। सियासी गलियारों में इस अहम मुलाकात के मायने निकाले जाने लगे हैं। यह मुलाकात इसलिए भी अहम है क्‍योंकि कुछ ही महीनों बाद उत्‍तर प्रदेश, उत्‍तराखंड, पंजाब, गोवा, मणिपुर और गुजरात में विधानसभा चुनाव होने हैं।

 Prashant Kishor
Prashant Kishor meet rahul gandhi

बताते चलें कि पंजाब कांग्रेस की चुनावी रणनीति तैयार करने की जिम्मेदारी पहले ही प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) के पास है। ऐसे में प्रशांत किशोर की राहुल गांधी से मुलाकात को अब उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों के अगले साल होने वाले चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है। यह भी कयास लगाए जा रहे हैं कि इसी अहम बैठक के चलते ही प्रियंका गांधी ने अपने लखनऊ दौरे के कार्यक्रम में बदलाव किया है। पहले प्रियंका का 14 जुलाई को लखनऊ जाने का कार्यक्रम था। अब इसे टालकर 16 जुलाई कर दिया गया है।

अभी तक इस अहम बैठक का एजेंडा साफ नहीं हुआ है, लेकिन माना जा रहा है कि अगले साल कई राज्‍यों में होने वाले विधानसभा चुनावों में प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) कांग्रेस के लिए काम करेंगे। बताते चलें कि प्रशांत किशोर आईपैक के जरिये राजनीतिक रणनीति पर बारीकी से काम करते हैं। 2014 में उन्होंने नरेंद्र मोदी के राजनीतिक प्रचार-प्रसार की जिम्‍मेदारी ली थी। इसके बाद उन्‍होंने बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार, पंजाब में अमरिंदर सिंह और आंध्र प्रदेश में जगन मोहन रेड्डी के लिए काम किया। हाल ही में प्रशांत किशोर ने पश्चिम बंगाल मेंभी अपने रणनीतिक कौशल का लोहा मनवाया।
उल्लेखनीय है कि पिछले काफी समय से कांग्रेस की स्थिति दयनीय है। यूपी में तो पार्टी का कहीं पर सांगठनिक ढांचा ही नजर नहीं आता। प्रियंका गांधी के सक्रिय होने के बाद प्रदेश कांग्रेस सड़कों पर दिखने भी लगी है। अहम बात यह है कि इस बार यूपी विधानसभा चुनाव कांग्रेस प्रियंका गांधी के नेतृत्व में लड़ेगी। ऐसे में प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) की राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, हरीश रावत और केसी वेणुगोपाल के साथ बैठक बेहद अहम मानी जा रही है।

अफ़ग़ानिस्तान : तालिबान की वापसी से दहशत में दक्षिण और मध्य एशियाई देश

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button