Nepal प्रधानमंत्री केपी शर्मा भंग की नेपाल की संसद, जानिए कब होंगे अब चुनाव, तारीख तय

Nepal का राजनीतिक संकट गहरा हो गया है। राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी ने केपी शर्मा ओली मंत्रिमंडल की संघीय संसद भंग करने की सिफारिश को औपचारिक मंजूरी दे दी है।

काठमांडू। नेपाल (Nepal) का राजनीतिक संकट गहरा हो गया है। राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी ने केपी शर्मा ओली मंत्रिमंडल की संघीय संसद भंग करने की सिफारिश को औपचारिक मंजूरी दे दी है। नेपाल में अगले साल 30 अप्रैल से 10 मई के बीच चुनाव कराए जाएंगे। राष्ट्रपति कार्यालय की तरफ से इसकी जानकारी दी गयी है।
nepal pm

Nepal कम्युनिस्ट पार्टी ही कड़ा विरोध कर रही

इससे पहले नाटकीय घटनाक्रम में रविवार सुबह Nepal प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने अचानक कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई जिसमें मंत्रिमंडल ने सदन को भंग करने का फैसला लिया। संसद को भंग करने की सिफारिश राष्ट्रपति को सौंप दी गई है। इस नाटकीय घटनाक्रम का ओली की नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी ही कड़ा विरोध कर रही है। पार्टी की तरफ से कहा गया है कि यह लोकतांत्रिक मानदंडों के खिलाफ है। अफरातफरी में लिए गए इस फैसले के समय कैबिनेट की बैठक में सभी मंत्री उपस्थित नहीं थे, इसलिए इसे लागू नहीं किया जा सकता है।
संसद को भंग करने की सिफारिश पर Nepal राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी ने हस्ताक्षर कर रविवार को ही औपचारिक मंजूरी दे दी। उधर, पूरे राजनीतिक घटनाक्रम के बाद अगली रणनीति पर चर्चा के लिए नेपाल की विपक्षी पार्टी नेपाली कांग्रेस ने आपात बैठक बुलाई है।
यात्रियों से भरा टेम्पो बिजली के खंभे से टकराया, महिला की मौत, कई घायल
अब यहां महसूस किए गए Earthquake के झटके, तीव्रता 6.3
फिल्म ‘धमाका’ से Kartik Aryan का फर्स्ट लुक आउट, जानें क्या है मूवी की स्टोरी

नेपाल के पानी छोड़ने से UP के इस जिले में संवेदनशील हुई स्थिति, बांध पर लोगों ने ली शरण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button