इन लोगों के खरबों रुपये माफ करने पर बोले राहुल, सरकार केवल पूंजीपतियों की हितैषी

उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 में उद्योगपतियों के 23 खरब से अधिक का कर्ज माफ करना इस बात का प्रमाण है कि ये सरकार केवल पूंजीपतियों की हितैषी है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी ने केंद्र सरकार पर किसान और मजदूरों की परेशानियों को दरकिनार कर बड़े उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 में उद्योगपतियों के 23 खरब से अधिक का कर्ज माफ करना इस बात का प्रमाण है कि ये सरकार केवल पूंजीपतियों की हितैषी है।

वायनाड से सांसद राहुल गाँधी ने गुरुवार को ट्वीट कर केंद्र सरकार पर गरीब विरोधी होने का आरोप लगाया। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ’23 खरब 78 अरब 76 करोड़ रुपये का कर्ज इस साल मोदी सरकार ने कुछ उद्योगपतियों का माफ किया। इस राशि से कोविड के मुश्किल समय में 11 करोड़ परिवारों को 20-20 हजार रुपये दिए जा सकते थे। यह है प्रधानमंत्री मोदी के विकास की असलियत!’ उन्होंने कहा कि केंद्र की वर्तमान सरकार सिर्फ पूंजीपतियों और बड़े उद्योगपतियों के लिए लाभ बनाने का काम कर रही है।

इससे पहले भी राहुल गाँधी ने जनता से झूठे वादे करने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि पीएम मोदी ने हर आदमी के बैंक खाते में 15 लाख और हर साल दो करोड़ नौकरियां देने का वादा किया था, लेकिन ऐसा कुछ हुआ नहीं। कोरोना वायरस को लेकर भी प्रधानमंत्री ने 21 दिनों में जंग जीतने की बात कही थी, पर सभी दावे झूठे निकले।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button