संकट की घड़ी में रूस भारत के साथ, मेडिकल उपकरणों से भरे दो विमान दिल्ली पहुंचे

नई दिल्ली। भारत में कोरोना महामारी ने विकराल रूप धारण कर लिया है। कोरोना मरीजों की तादाद में लगातार इजाफे को देखते हुए दुनिया के तमाम देश भारत की मदद के लिए तत्पर हो रहे हैं। भारत के पुराने मित्र रूस ने मदद के लिए दो विमान भेजे हैं, जिसमे कोरोना मरीजों के लिए ऑक्सीजन, 75 वेंटिलेटर, 150 बेड साइड मॉनिटर और फैबिपिराविर दवाइयां शामिल हैं। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने संकट की इस घड़ी में भारत की हर संभव मदद का आश्वासन दिया है।

संकट की घड़ी में भारत की मदद के लिए रूस एक बार फिर आगे आया है। रूस ने भारत को मेडिकल उपकरणों से भरे दो विमान भेजे हैं। इन विमानों में 20 ऑक्सीजन कंसेनट्रेटर, 75 वेंटिलेटर्स, 150 बेडसाइड मॉनिटर्स और दवाइयां शामिल हैं। इसे अब देश के विभिन्न राज्यों में भेजा जाएगा। आज सुबह रुसी विमान के नई दिल्ली एयरपोर्ट पहुँचने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति पुतिन का आभार जताया।

उल्लेखनीय है कि भारत में बिगड़ती कोरोना वायरस की स्थिति पर पीएम मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बातचीत की। पुतिन ने भारत को हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। बताते चलें कि रूस की स्पुतनिक-वी वैक्सीन मई महीने में भारत पहुंचना शुरू हो जाएगी। स्पुतनिक-वी वैक्सीन का भारत में उत्पादन भी किया जाएगा। कोविशील्ड और कोवैक्सीन के बाद भारत के पास यह तीसरी वैक्सीन होगी। इससे भारत में टीकाकरण अभियान को और गति मिलेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button