दुखद : नहीं रहे ज़ियोना चाना, मिज़ोरम के CM ने जताया दुःख, इसलिए थे दुनिया में मशहूर

स्पेशल डेस्क। पूरी दुनियां में मशहूर 76 वर्षीय ज़ियोना चाना नहीं रहे। उन्हें डायबिटीज़ और हाइपरटेंशन की शिकायत थी। गत रविवार को उन्होंने अंतिम सांस ली। मिज़ोरम के मुख्यमंत्री ने ज़ियोना चाना की मृत्यु पर गहरी संवेदना व्यक्त की है। ज़ियोना चाना की 38 पत्नियां हैं और इन 38 पत्नियों से 89 बच्चे हैं। ये परिवार दुनिया का सबसे बड़ा परिवार है।

ज़ियोना चाना पूर्वोत्तर भारत के मिज़ोरम राज्य के पहाड़ी गांव बक्तावंग तलंगनुम के निवासीथे। 38 पत्नियों और उनसे पैदा हए 89 बच्चों के साथ वह अपने गांव बक्तावंग तलंगनुम में चार मंज़िला वाले सौ कमरों के घर में रहते थे। चाना का परिवार दुनिया का सबसे बड़ा परिवार होने के साथ ही मिज़ोरम की पहचान भी है। दुनिया के पर्यटक जब मिज़ोरम जाते हैं तो इस परिवार से जरूर मिलते हैं।

जानकारी के मुताबिक़ ज़ियोना चाना महज़ 17 साल की उम्र में 21 साल की अपनी पहली पत्नी से मिले थे। चाना चुआंथर संप्रदाय के मुखिया थे। इस संप्रदाय का गठन वर्ष 1942 में ज़ियोना चाना के दादा खुआंगतुहा ने किया था। वर्तमान में चुआंथर संप्रदाय में लगभग चार सौ परिवार हैं। चुआंथर संप्रदाय में पुरुषों के बहुविवाह की परंपरा है।

ज़ियोना चाना के निधन पर मिजोरम के मुख्यमंत्री ज़ोरामथांगा ने गहरी सांसदना व्यक्त की है। ज़ोरामथांगा ने ट्वीट कर कहा कि 38 पत्नियों और 89 बच्चों के साथ दुनिया के सबसे बड़े परिवार के मुखिया माने जाने वाले 76 वर्षीय मिस्टर ज़ियोन को मिज़ोरम ने भारी मन से विदाई दी। मिजोरम और उनका गांव, उनके परिवार की वजह से एक बड़ा और आकर्षक पर्यटन स्लथ बन गया है। ज़ियोना चाना के निधन पर चुआंथर संप्रदाय में शोक की लहर है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button