जाड़ों में त्वचा का होने वाला है बुरा हाल, अगर इन बातों को मानेंगे सही

सर्दियों का मौसम एक ऐसा वक्त है, जब न सिर्फ हमारे वार्डरोब को ही बदलने की जरूरत होती है, बल्‍कि हमें अपनी स्‍किन केयर रूटीन को भी बदलना पड़ता है।

ठंडे के मौसम में हवाओं से निपटना आसान नहीं होता है। इस दौरान हम सभी अपने जिस्म को गर्माहट प्रदान करने के लिए गर्म कपड़े पहनने के अलावा तरह-तरह के जतन भी करने शुरू कर देते हैं। लेकिन सर्दियों का मौसम एक ऐसा वक्त है, जब न सिर्फ हमारे वार्डरोब को ही बदलने की जरूरत होती है, बल्‍कि हमें अपनी स्‍किन केयर रूटीन को भी बदलना पड़ता है।

Skin

हम में से ऐसे बहुत से लोग हैं जो पूरी सर्दियां गलत रूटीन को फॉलो करके गुजार देते हैं। ऐसा करने से स्‍किन को बहुत अधिक हानि पहुंचता है। आज हम इन्‍हीं मिथक का खुलासा करेंगे और आपको सूचना देंगे कि क्‍या सही है और क्‍या गलत, जिससे आप अपनी सर्दियों को आराम से गुजार सकें।

अपनी त्वचा को हमेशा सर्द हवाओं से बचाकर रखना चाहिए। सर्द हवाएं त्‍वचा के लिए कठोर मानी जाती हैं। इसकी वजह से स्‍किन के अदर की कोशिकाएं फट जाती हैं, जिसके कारण हमारे गाल लाल हो जाते हैं और हम उसे एक हेल्‍दी ग्‍लो मानकर नजरअंदाज कर देते हैं।

ठंडी हो या गर्मी, हर प्रकार की स्किन टाइप को मॉइश्चराइजर की आवश्यकता होती है, जो इसे प्रदूषण, फ्री रेडिकल्स आदि नुकसानदायक तत्वों से बचाता है। ऑयली स्‍किन वालों को हमेशा जेल-बेस्‍ड मॉइस्‍चराइजर या कोल्‍ड क्रीम लगाने की हिदायत दी जाती है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button