विशेष : BJP ने की चुनाव निरस्त करने की मांग, भारी पड़ी चाणक्य-चंद्रगुप्त की जुगलबंदी

जनपद में चंद्रगुप्त की तरह एक छत्र साम्राज्य बनाने वाले रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया के साथ जिले के चाणक्य प्रमोद तिवारी की जुगलबंदी ने भाजपा (BJP) को चारों खाने चित कर दिया।

राजेंद्र पांडेय 

प्रतापगढ़। जनपद में भाजपा (BJP) को चारों खाने चित कर दिया। ऐसा कहा जाता है कि जिला पंचायत चुनाव सत्ता दल का चुनाव होता है। किंतु जिला पंचायत चुनाव से यह तय हो गया कि जिले में तो राजा भैया एवं प्रमोद तिवारी की ही चलेगी. चंद्रगुप्त की तरह एक छत्र साम्राज्य बनाने वाले रघुराज प्रताप सिंह राजा भैया के साथ जिले के चाणक्य प्रमोद तिवारी की जुगलबंदी ने यह किया.raja bhaiya on bjp

कभी छत्तीस के आंकड़े वाले यह नेता दो जब इस बार एक साथ दिखाई दिए तो निश्चित रूप से गुल खिलाने का अंदेशा सब लोग लगा रहे थे। दोनों की जोड़ी ने भाजपा (BJP) के मंसूबे को ध्वस्त करते हुए अंततः उसे जबरदस्त पटकनी दे ही दी।

BJP ने की चुनाव निरस्त करने की मांग

bjp
bjp

भारतीय जनता पार्टी (BJP) के जिला अध्यक्ष हरिओम मिश्र ने जिला निर्वाचन अधिकारी को प्रार्थना पत्र देकर जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव को निरस्त करने की मांग की है। इस प्रार्थना पत्र पर जिले के सांसद संगम लाल गुप्ता, कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोती, रानीगंज विधायक धीरज ओझा, सदर विधायक राजकुमार पाल के साथ जिले के प्रभारी नागेंद्र रघुवंशी के हस्ताक्षर हैं। फिलहाल चुनाव परिणाम घोषित किया जा चुका है।

धरने पर बैठे रहे बीजेपी के दिग्गज, नहीं हुई सुनवाई

bjp
bjp
भारतीय जनता पार्टी (BJP) के जिला पंचायत अध्यक्ष पद के प्रत्याशी क्षमा सिंह एवं उनके पति बढ़नी मोड पर धरने पर बैठे गए। उन्होंने आरोप लगाया कि जनसत्ता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष कुछ अज्ञात लोग उनके समर्थक मतदाताओं को जबरन उठा ले गए। उनकी सुनवाई नहीं कर रही है।
bjp
bjp

जैसे ही भाजपा पदाधिकारियों को जानकारी प्राप्त हुई मतदान स्थल के बाहर धरना देने के लिए बैठ गए। जिलाध्यक्ष हरिओम के अलावा भारतीय जनता पार्टी के समस्त कद्दावर नेता एवं पदाधिकारी धरने में डटे रहे। फिलहाल चुनाव परिणाम घोषित कर दिया गया।

Attack on terrorism : UP ATS ने अलकायदा के तीसरे आतंकी को भी दबोचा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button