40 हजार खर्च कर कमाए 2 लाख, जानें कैसे होगा ये संभव

पीएचडी कर शुरू की गेंदा की खेती, चालीस हजार खर्च कर कमाए दो लाख

उत्तर प्रदेश॥ PM के किसानों की आय डबल करने की बात से प्रेरित होकर गोंडा के एक युवा ने कम खर्च में ज्यादा आमदनी करने की नियत से एक एकड़ में गेंदा का फूल लगवाया। सितंबर माह से निकल रहे फूल से एक एकड़ खेत में दो लाख रुपए से ज्यादा का फूल बिक चुका है और खर्च लगभग चालिस हजार रुपये है। यही नहीं इस युवा किसान ने सात एकड़ में केले की फसल भी लगा रखी है।

Money

जिले के मनकापुर तहसील अंतर्गत अलीनगर गांव निवासी डॉ अनिल श्रीवास्तव ने बताया कि घर में रहकर ही कुछ करने की ठान ली। इसके बाद खेती का विचार आया। परंपरागत खेती में तो कुछ आमदनी है नहीं, इस कारण फल, सब्जी आदि की खेती के बारे में विचार करने लगा और इस पर जानकारी हासिल की। डॉ. अनिल ने वनस्पति विज्ञान से पीएचडी किया है। पीएचडी करने के बाद अपने गांव में ही कुछ करने की ठान ली और शुरू कर दी खेती।

उन्होंने बताया कि गोंडा में उप निदेशक उद्यान अनीस श्रीवास्तव से मिला। उन्होंने गेंदा के फूल की खेती की सलाह दी। उसके बारे में विस्तार से बताया। फिर हमने एक एकड़ में अगस्त माह में गेंदा का फूल लगाया। गेंदा के फूल की खेती में खर्च ना के बराबर है। उन्होंने बताया कि इसका बीज बनारस से लाया हूं। इसमें पूसा बंसती और पूसा नारंगी किस्म के पौधे लगाये गये हैं। अब इसका अंतिम समय चल रहा है। फिर रोजाना 40 किलो निकल जाते हैं।

 Cultivation, marigold, low cost good income farming

उन्होंने बताया कि इसमें चार ट्राली कंपोस्ट की खाद और एक बोरी डीएपी डाला गया है। बीस हजार रुपये का बीज लिया था। इसके बाद जो लेबर खर्च आते हैं, वह फूल बिकता जाता है और उन्हें देता रहता हूं। घर से खर्च वहीं बीस हजार रुपये हुए थे और जुताई का खर्च लगा था। इसके बाद मजदूर वगैरह को देने के बाद अब तक डेढ लाख रुपये की बचत हो चुकी है।

अनिल श्रीवास्तव ने बताया कि फिर एक एकड़ में गेंदा का फूल लगाने जा रहा हूं। शादी के मौसम में इसकी अच्छी बिक्री हो जाती है। इसको तोड़कर बाजार ले जाने की भी जरूरत नहीं है। माली खेत पर ही आते हैं और वहीं से लेकर चले जाते हैं। बाजार ले जाने की अपेक्षा वे कुछ कम दाम लगाते हैं लेकिन वहां तक ले जाने का खर्च बच जाता है। इस कारण सब जोड़ने के बाद बराबर ही बैठता है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button