Corruption In Uttar Pradesh: अब इस अधिकारी की रिश्वतखोरी हुई उजागर, जांच के आदेश

भाजपा नेता रवि प्रताप सिंह  ने इस मामले में अमेठी के प्रभारी मंत्री मोहसिन रजा शिकायत की है। प्रभारी मंत्री ने अमेठी डीएम से मामले की निष्पक्ष जांच कराकर कार्यवाही करने का निर्देश दिया है।

अमेठी। योगी सरकार के भतेरे जतन और सख्ती के बाद भी उत्तर प्रदेश में भ्रष्टाचार (Corruption In Uttar Pradesh) खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा मामला सियासी तौर पर बेहद अहम माने जाने वाले अमेठी का है, जहां जिला प्रोबेशन अधिकारी द्वारा एक स्थानीय भजपा नेता से नकद घूस लेते वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है। अमेठी के प्रभारी मंत्री मोहसिन रजा ने अमेठी डीएम से मामले में निष्पक्ष जांच कराकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।

सोशल-मीडिया में वायरल हो रहे वीडियो में जिला प्रोबेशन अधिकारी अजय पाल सिंह स्थानीय भजपा नेता रवि प्रताप सिंह से 10 हजार की रिश्वत लेते नजर आ रहे है। यह रिश्वत जिला प्रोबेशन अधिकारी विभाग में गाड़ी लगाने के नाम पर दी जा रही है। (Corruption In Uttar Pradesh)

भाजपा नेता रवि प्रताप सिंह  ने इस मामले में अमेठी के प्रभारी मंत्री मोहसिन रजा शिकायत की है। प्रभारी मंत्री ने अमेठी डीएम से मामले की निष्पक्ष जांच कराकर कार्यवाही करने का निर्देश दिया है। (Corruption In Uttar Pradesh)

जानकारी के मुताबिक़ अधिकारी को बार-बार रिश्वत देने से परेशान भाजपा नेता ने घूसखोर अधिकारी का वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। रिश्वतख़ोरी का मामला सामने आने के बाद जिला प्रोबेशन विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। बताते चलें कि अमेठी से केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी सासंद हैं। (Corruption In Uttar Pradesh)

Agricultural Bill 2020: पूरी दुनिया में हो रही आलोचनाओं के बाद गाजीपुर बार्डर पर लगी कीलें हटाई गई
Chauri Chaura Incident के शताब्दी समारोह में बोले पीएम – आग थाने में नहीं जन-जन के दिलों में लगी थी
Corruption: यूपी में भ्रष्ट अफसरों की खैर नहीं, डेढ़ सौ से ज्यादा नौकरशाह योगी सरकार के रडार पर
Love Jihad: अमन ने कराई हिंदू युवती की अमान से दोस्ती, फिर जो हुआ वह खौंफनाक था
Mining Scam: पूर्व IAS सत्येंद्र सिंह के ठिकानों पर CBI के छापे, मिली अकूत संपत्ति

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button