आतंकियों की रहनुमाई पड़ी महंगी! चीनी मिसाइल का टारगेट पाकिस्तान, अब क्या करेंगे इमरान

लेकिन ये निश्चित है कि वो ढूंढ़ निकाले जाएंगे। अगर पाकिस्तान ऐसा नहीं कर पाता है तो उसकी सहमति से चीन की मिसाइलें और स्पेशल फोर्सेज कार्रवाई कर सकती हैं।

इस्लामाबाद।। चीन ने पाकिस्तान में इंजीनियरों के बस के ऊपर हुए आतंकी हमले को लेकर इमरान सरकार से गहरी नाराजगी जताई है। चीन के सरकारी अखबार ने तो इमरान खान को सीधे-सीधे धमकी दे दी है। चीन ने आतंक पर पाकिस्तान को हमले की धमकी दी है। चीन के सरकारी मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने पाक को धमकाया है। ग्लोबल टाइम्स के संपादक हू शिजीन ने ट्विट करते हुए लिखा कि कि इस हमले के पीछे कायर आतंकी अब तक सामने नहीं आ पाए हैं।

लेकिन ये निश्चित है कि वो ढूंढ़ निकाले जाएंगे। अगर पाकिस्तान ऐसा नहीं कर पाता है तो उसकी सहमति से चीन की मिसाइलें और स्पेशल फोर्सेज कार्रवाई कर सकती हैं। अंतरराष्ट्रीय कूटनीति समझने वाले जानते हैं कि सरकारी मुखपत्र के संपादक के जरिये कही गई बातों में पाकिस्तान की सहमति वाले शब्द कूटनीतिक लिहाज वाले हैं। वरना शी जिनपिंग ने सीधे-सीधे इमरान को मिसाइल हमले की धमकी दी है।

चीनी इंजीनियरों से भरी बस पर हुआ हमला–

गौरतलब है कि पाकिस्तान के आतंकी हमले में 9 चीनी इंजीनियर मारे गए थे। जब चीनी इंजीनियर से भरी बस पर अटैक हुआ था। हमले में नौ चीनी इंजीनियर समेत 12 की मौत हुई। खैबर पख्तूनवा के कोहिस्तान इलाके में ये हमला हुआ था। चीनी इंजीनियर और निर्माण श्रमिक एक बांध बनाने में मदद कर रहे हैं। यह बांध 60 अरब अमेरिकी डॉलर की लागत वाले चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) का हिस्सा है।

इमरान ने झूठ बोल चीन के गुस्से से बचना चाहा, दूतावास ने किया पर्दाफाश–

आतंक के रहनुमा बने इमरान ये तो अच्छी तरह जानते थे कि अपने नागरिकों पर हुए हमले को चीन किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेगा। इसलिए इमरान ने पहले झूठ बोलकर चीन के गुस्से से बचना चाहा। यहां तक की इस बम धमाके को हादसा बता दिया। लेकिन चीनी दूतावास ने बम धमाके की पुष्टि कर इमरान के झूठ का पर्दाफाश किया।

इमरान के लिए महंगी पड़ी आतंकियों की रहनुमाई–

चीन ने जब से पाकिस्तान के झूठ का पर्दाफाश किया तब से इमरान घबराए हुए हैं। आतंकियों पर कार्रवाई करो या चीन के हमले झेलो। यानी इमरान के एक तरफ कुआं है और दूसरी तरफ खाई और बहुत मुश्किल पड़ने वाली है आतंकियों की रहनुमाई। इमरान सरकार से चीन की नाराजगी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आज पाकिस्तान के साथ सीपीईसी को लेकर होने वाली बड़ी बैठक को अचानक रद्द कर दिया। इतना ही नहीं चीन ने तो इन इंजीनियरों के मौत की तफ्तीश के लिए अपनी जांच टीम भेजने का भी ऐलान कर दिया।

दिखावे की कार्रवाई के नाम पर निर्दोष न चढ़ जाएं भेंट–

इमरान खान का गृह प्रदेश खैबर पख्तूनऱव्वा इन दिनों पाकिस्तान में आतंकियों का ब़ड़ा गढ़ बनता जा रहा है। ऐसे में इस बात की भी आशंका जताई जा रही है कि अंतरराष्ट्रीय दवाब में आतंकियों पर कार्रवाई के नाम पर आम लोगों को बलि का बकरा बनाया जा सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो ब्लूचिस्तान में ऐसे कई आतंकवादी हमलों के बाद पाकिस्तान की सेना द्वारा आम लोगों को आतंकी बताकर उनकी हत्या की घटना को अंजाम दिया गया है। ऐसी कई घटनाओं के वीडियो भी सोशल मीडिया पर मौजूद हैं जिसमें पाकिस्तानी सेना निहत्थे लोगों को गोलियों से छलनी करती नजर आ रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button