इन लोगों को है Corona का सबसे ज्यादा खतरा, कभी भी आ सकते हैं वायरस की चपेट में

कोविड-19 (Corona) महामारी का सबसे अधिक खतरा धूम्रपान और तम्बाकू का सेवन करने वाले लोगों में होता है।

कोविड-19 (Corona) महामारी का सबसे अधिक खतरा धूम्रपान और तम्बाकू का सेवन करने वाले लोगों में होता है। इसका कारण है कि इन लोगों के फेफड़े अधिक कमजोर होते हैं। धूम्रपान की लत के कारण उनमें लंग्स कैंसर का खतरा भी अधिक रहता है।

corona in india

कोविड-19 (Corona) महामारी भी कमजोर फेफड़ों में प्रवेश कर अधिक कमजोर कर देता है, जिससे मरीज की मौत भी हो सकती है, क्योंकि उस ऑक्सीजन की पूर्ति ठीक से नहीं हो पाती है। स्टडी के मुताबिक धूम्रपान करने वालों में सिगरेट का धुंआ रिसेप्टर प्रोटीन अधिक बनाने के लिए फेफड़ों को फुला देता है, जिसका इस्तेमाल कोविड-19 महामारी मानव कोशिकाओं में प्रवेश करने के लिए करता है।

वहीं, धूम्रपान करने वालों के फेफड़े मजबूत नहीं होते हैं, इसलिए धूम्रपान छोड़ने से कोविड-19 (Corona) महामारी के संक्रमण का खतरा कम हो सकता है। तम्बाकू में बहुत से जहरीले तत्व होते हैं, जो फेफड़ों को नुकसान पहुंचाते हैं। इससे व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है। तम्बाकू का सेवन करने वाले लोगों में कोविड-19 महामारी प्रवेश कर उनके फेफड़ों को बुरी तरह से क्षति पहुंचा सकता है।

धूम्रपान करने वाले लोगों में कई अन्य गंभीर परिणाम हो सकते हैं। धूम्रपान करते समय सिगरेट का धुआं शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। साथ ही स्मोकिंग की आदत पुरुषों के शुक्राणु और महिलाओं के अंडाणु को भी कमजोर कर देती है। स्मोकिंग और गुटखा खाने वालों में कोविड-19 (Corona) महामारी फैलने का खतरा इसलिए भी अधिक होता है क्योंकि इसमें वे बार बार अपने हाथों और मुंह का इस्तेमाल करते रहते हैं।

इन लोगों को है कोरोना का सबसे ज्यादा खतरा, कभी भी आ सकते हैं वायरस की चपेट में

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button