UP: लैंको परियोजना में बॉयलर की शटरिंग गिरने से 13 श्रमिक घायल, मुख्‍यमंत्री ने दिए जांच के आदेश

उन्होंने इस हादसे में घायल लोगों को समुचित इलाज कराने के निर्देश देते हुए कहा है कि गंभीर घायलों के ​बेहत्तर से बेहत्तर उपचार की व्यवस्था की जाए।

सोनभद्र।। जनपद के अनपरा सी बिजलीघर में रविवार को सुबह 600 मेगावाट की द्वितीय इकाई में कराये जा रहे अनुरक्षण कार्य के समय शटरिंग गिरने से उसकी चपेट में 13 श्रमिक घायल हो गए। उन्हें बाहर निकालकर चिकित्सालय भेजा गया है। उनमें से पांच मजदूरों की हालत गंभीर है। शटरिंग को हटाकर अन्य संभावित घायल मजदूरों की तलाश की जा रही है। इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों मौके पर पहुंचकर राहत बचाव कार्य के निर्देश दिए है।

उन्होंने इस हादसे में घायल लोगों को समुचित इलाज कराने के निर्देश देते हुए कहा है कि गंभीर घायलों के ​बेहत्तर से बेहत्तर उपचार की व्यवस्था की जाए। उन्होंने सभी घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की है।

इस घटना को लेकर जिलाधिकारी ने एसडीएम रमेश कुमार की अध्‍यक्षता में उत्‍पादन निगम एवं एनटीपीसी के अधिकारियों की संंयुक्‍त जांच टीम का गठन किया है। जिलाधिकारी ने बताया कि काफी ऊंचाई पर चल रहे काम के दौरान रात्रि करीब 2:45 बजे हादसा हुआ है इनमें 13 लोग घायल हो गए। इनमें से आठ लोगों को इलाज के बाद घर भेज दिया गया जबकि पांच लोगों की हालत नाजुक होेने पर उनको अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। चिकित्सकों को बेहतर इलाज मुहैया कराये जाने को निर्देश दिए गए हैं।

घटना की जानकारी के बाद से ही लैंको परियोजना के गेट पर मजदूरों की भारी भीड़ जुट गई। आसपास क्षेत्रों की पुलिस भी सुरक्षा कारणों से प्लांट समेत गेट पर तैनात कर दिया गया है। अधिकारियों की देखरेख में मलबे को हटाया जा रहा है। परियोजना में हादसे की जानकारी होने के बाद मौके पर प्रशासनिक अधिकारी भी पहुंचे और हादसे की जानकारी लेने के साथ ही राहत और बचाव कार्य का जायजा लिया

कारखाना प्रबंधक एसके द्विवेदी ने बताया कि 13 श्रमिक चपेट में आए हैं। उन्हें बाहर निकालकर चिकित्सालय भेजा गया है। इस हादसे में गंभीर रूप से घायल ओबरा निवासी शिवकुमार (27), अनपरा निवासी शिवम (20), कासगंज निवासी विवेक (,34),घाघरा गांव निवासी धर्मजीत (25) व संदीप कुमार (25) को उपचार के लिए नेहरू चिकित्सालय जयंत में भर्ती कराया गया है। बांकि अन्य को इलाज के उपरांत घर भेज दिया गया है।

मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश–

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने स्थानीय प्रशासन को निर्देशित किया कि मौके पर तत्काल राहत कार्य कराया जाए। घायलों का समुचित इलाज कराया जाए तथा जो गंभीर घायलों में बेहतर रहा स्वास्थ्य सुविधा केंद्रों पर भेजा जाए। मौके पर किसी प्रकार की अव्यवस्था ना होने पाए। दुर्घटना की जांच के निर्देश भी उन्‍होंने जारी किया है। अपर मुख्य सचिव ऊर्जा को निर्देश दिया है कि वह घटना की जांच करके जिम्मेदारी तय करें और तत्काल प्रभावी कार्रवाई भी करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button