UP: कानपुर में नकली पुलिस बनकर कर रहे थे ये काम, PRV कर्मियों ने जांबाजी से पकड़ा

DSP पश्चिम संजीव त्यागी ने बताया कि बुधवार रात करीब साढ़े दस बजे पुलिस को सूचना मिली की कुछ लोग सफेद रंग की स्कॉर्पियो नंबर यूपी 78 सीडी 6325 की गाड़ी पर तीन युवक सवार हैं।

कानपुर।। कानपुर में वर्दी पहनकर वसूली कर रहे बदमाशों को पुलिस ने घेरकर दबोचा है। बदमाश कल्याणपुर में स्कॉर्पियो गाड़ी पर सवार होकर ट्रकों से वसूली कर रहे थे, पुलिस को देखते ही भागने खड़े हुए थे। कार सवार बदमाशों का दिलेरी के साथ डायल 112 की पीआरवी ने पीछा किया। सूचना मिलते ही जिलेभर की पुलिस सक्रिय हो गई और पुलिस ने स्वरूपनगर में घेरकर कार सवार तीन बदमाशों को दबोच लिया। देर रात तक पकड़े गये अभियुक्तों से स्वरूप नगर थाने में पुलिस ने पूछताछ की और मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी।

 

DSP पश्चिम संजीव त्यागी ने बताया कि बुधवार रात करीब साढ़े दस बजे पुलिस को सूचना मिली की कुछ लोग सफेद रंग की स्कॉर्पियो नंबर यूपी 78 सीडी 6325 की गाड़ी पर तीन युवक सवार हैं। तीनों ने पुलिस की वर्दी पहन रखी है और देखने से फर्जी लग रहे हैं। यह सभी बिठूर रोड चौराहे पर ट्रक और दुकानदारों से वसूली कर रहे हैं।

इस सूचना पर पुलिस ने बदमाशों की घेरा बंदी शुरू की। पुलिस को आता देख बदमाश स्कॉर्पियो पर सवार होकर भागने लगे। सूचना वायरलेस पर चली और एक संदेश पर पूरे शहर की पुलिस एक्शन मोड में आ गई। डायल 112 की पीआरवी कर्मियों ने जानकारी मिलते ही बहादुरी के साथ भाग रहे बदमाशों का पीछा किया और पुलिस ने स्वरूपनगर में जाकर तीनों बदमाशों को दबोच लिया गया।

DSP ने बताया कि स्वरूप नगर थाने में ने पकड़े गये अभियुक्तों से पूछताछ की गई। पूछताछ में तीनों अभियुक्तों की पहचान दबौली वेस्ट निवासी लोकेन्द्र यादव, नवाबगंज निवासी गगन तिवारी और आयुष अग्निहोत्री के रूप में हुई है। जिस सफेद स्कार्पियो कार से अभियुक्त घूम रहे थे वह गगन तिवारी के पिता कमलेश तिवारी के नाम पर है। इनकी गाड़ी से पुलिस की टोपी बरामद हुई हैं जिसे लगाकर एक अभियुक्त गाड़ी चला रहा था और बाकी खौफ दिखाकर वसूली किया करते थे। गिरफ्तार अभियुक्तों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर अग्रिम कार्रवाई की जा रही है।

पुलिस आयुक्त ने की इनाम की घोषणा-

कानपुर पुलिस की सक्रियता से मिली बदमाशों को पकड़ने में सफलता से पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने घेराबंदी के इस सफल आपरेशन के लिए टीम के प्रत्येक सदस्य को एक-एक रुपये व प्रशस्ति पत्र से सम्मानित करने की घोषणा की है। पुरस्कार व प्रशस्ति पत्र के लिए टीम में शामिल पीआरवी 432 पर एचसीपी किशन तिवारी, कांस्टेबल सुरेन्द्र कुमार व चालक विजय कुमार, पीआरवी 408 के कांस्टेबल राकेश सिंह, चालक विनोद कुमार शुक्ला, रेडियो ऑपरेटर दिनेश कुमार, ऑपरेशन्स कमांडर के के यादव हैं। पुलिस आयुक्त ने बताया कि पुलिस नियंत्रण कक्ष व फील्ड के पुलिस वाहनों के जबरदस्त समन्वय से आरोपियों को चंद मिनटों में पकड़ा जाना संभव हुआ है। ऐसी कार्रवाई के लिए पुलिस नियंत्रण कक्ष को और मजबूत किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button