UP: हाईटेक बदमाशों से निपटने के लिए पुलिस का ऐसा इंतज़ाम, सोशल मीडिया पर आईं लाखों शिकायत

इक्क्सवीं सदी के बदमाश भी अब हाइटेक हो गये हैं। अब वह साइबर अपराधों को करना ज्यादा बेहतर और सुरक्षित महसूस करते हैं। इन दिनों साइबर अपराधों की तमाम शिकायतें पुलिस विभाग को प्राप्त हुई है।

लखनऊ।। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने विषम परिस्थितियों में भी बेहतर काम किए हैं। पुलिस ने सीमित संसाधनों और कठोर परिश्रम से सराहनीय काम किया है। वर्ष 2019-20 में साइबर सेल की टीमों ने साइबर अपराधों पर लगाम लगाया है। इस वर्ष सोशल मीडिया में आने वाली शिकायतों के आधार पर विभिन्न जनपदों में कुल 4,167 एफआईआर दर्ज की गयी है।

 

पूरे प्रदेश में 149 थानों पर साइबर सेल टीम गठित–

इक्क्सवीं सदी के बदमाश भी अब हाइटेक हो गये हैं। अब वह साइबर अपराधों को करना ज्यादा बेहतर और सुरक्षित महसूस करते हैं। इन दिनों साइबर अपराधों की तमाम शिकायतें पुलिस विभाग को प्राप्त हुई है। प्रदेश में बढ़ रहे साइबर अपराध एवं सोशल मीडिया के दुरुपयोग पर नियंत्रण लगाये जाने के लिए कुल आठ जोन, 75 जनपद एवं 149 थानों पर साइबर सेल टीमों का गठन किया गया है। इसमें 1717 निरीक्षक, 1717 उपनिरीक्षक, 3458 मुख्य आरक्षी,आरक्षी व सपोर्ट टीम के लिए 93 निरीक्षक, उपनिरीक्षक और 186 मुख्य आरक्षी,आरक्षी जनशक्ति की व्यवस्था की गयी।

डिजिटल वाॅलन्टियर ग्रुप से जुड़े 2,40,000 लोग–

पुलिस मुख्यालय के एक अधिकारी के मुताबिक सोशल मीडिया के माध्यम से फैलायी जाने वाली अफवाहों को रोकने के लिये प्रदेश के समस्त थानों पर पुलिस विभाग की ओर से डिजिटल वाॅलन्टियर के नाम से व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया है। जो 24 घंटे कार्य करती हैं। पूरे प्रदेश से करीब 2,40,000 से अधिक लोगों को डिजिटल वालंटियर ग्रुप के माध्यम से जोड़ा जा चुका है।

कानून एवं व्यवस्था आईजी ज्योति नारायण के मुताबिक प्रदेश के 75 जिलों में 149 थानों पर साइबर सेल टीमों का गठन किया गया है। साइबर अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए यह टीमें 24 घंटे काम कर रही है। पिछले दिनों टीमों ने बेहतर काम किया है और उम्मीद है​ कि आगे भी करती रहेंगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button