गरीबों का इंतजार खत्म, अब सीधे नसीब होगी उन्हें छत

जो लोग सिर्फ मकान बनाए जाने को अपना सपना मानते थे उन्हें अब प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत छत नसीब हो सकेगी।

उत्तर प्रदेश॥ जो लोग सिर्फ मकान बनाए जाने को अपना सपना मानते थे उन्हें अब प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत छत नसीब हो सकेगी। प्रधानमंत्री द्वारा शपथ ग्रहण के समय ही यह घोषणा कर दी गई थी कि जिन गरीबों के पास आवास नहीं है उन्हें एक योजना चलाकर आवास उपलब्ध कराए जाएंगे।

house

अब ऐसे लोगों को ज्यादा इंतजार नहीं करना होगा। छत विहीन परिवार जिनको पक्के आशियाने का इंतजार है उनके लिए अच्छी खबर है। ऐसे परिवारों को जल्द ही सपना साकार होगा प्रधानमंत्री आवास योजना से। जिसको लेकर शासन द्वारा जिले में 3139 आवास बनाने का लक्ष्य दिया गया है। इस लक्ष्य को पूरा करने के बाद जल्द ही नया लक्ष्य आएगा। इसको लेकर भी अधिकारियों को संकेत मिल रहे हैं।

जिले में सबसे अधिक आवास बनाने का लक्ष्य विकास खंड औरैया में 616 व सबसे कम विकास खंड भाग्यनगर में 396 आवास बनाए जाने का लक्ष्य दिया गया है। आवास के लिए इंतजार कर रहे लोगों को जल्द सपना साकार होगा। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में पात्र लोगों आशियाना देने के लिए शासन द्वारा विकास खंड वार लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिसको लेकर खंड विकास अधिकारियों को सीडीओ ने आवश्यक दिशा निर्देश दिए हैं। सातों विकास खंड के लिए 3139 आवास का लक्ष्य मिला है।

जिले में आवास प्लस के तहत 15 हजार आवेदकों को आवास का इंतजार है। सीडीओ अशोक बाबू मिश्र ने बताया कि जो लोग आवास प्लस के तहत जो लोग आवेदन कर चुके हैं उनमें से ही पात्र लाभार्थियों को इसका लाभ दिया जाएगा। एडीओ पंचायत, खंड विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी, आवास के लिए सूची का सत्यापन करेगें। जिनकी रिपोर्ट के आधार पर लोगों आवास दिया जाएगा। किसी भी अपात्र को आवास नहीं मिलेगा अगर गड़बड़ी पाई गई तो संबंधित पर कार्रवाई की जाएगी। तीन किस्तों में मिलेंगे एक लाख 20 हजार पीडी के मुताबिक जो पात्र पाए जाएंगे।

उनको तीन किस्तों में एक लाख 20 हजार रुपये लाभार्थी के खाते में भेजे जाएंगे। सत्यापन रिपोर्ट पूरी होने के बाद लाभार्थियों के खाते में तीन किस्तें भेजी जाएंगी। जिसमें पहली किस्त 40 हजार रुपये, दूसरी किस्त 70 हजार रुपये तथा तीसरी किस्त 10 हजार रुपये है। इसके अलावा 12 हजार रुपये इज्जतघर निर्माण के लिए व 18090 रुपये मजदूरी के अलग से मिलेंगे।

परियोजना निदेशक हरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि शासन द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत जिले में 3139 लाभार्थियों को आवास दिए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसको लेकर जल्द ही वेरीफिकेशन शुरू हो जाएगा। पात्रता पाए जाने पर ही लोगों को आवास का लाभ दिया जाएगा। सभी विकास खंडों से सत्यापन रिपोर्ट मांगी गई है।

विकासखंडवार निर्धारित लक्ष्य, विकास खंड का नाम

  • लक्ष्य औरैया : 616
  • अछल्दा : 403
  • अजीतमल : 420
  • भाग्य नगर : 396
  • बिधूना : 508
  • एरवाकटरा : 446
  • सहार : 350

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button