पश्चिम बंगाल : खेला अभी बाकी है ! नंदीग्राम चुनाव नतीजे को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देंगी दीदी

बीजेपी के बड़े-बड़े दावों और आक्रामक चुनाव प्रचार के बाद भी पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमसी को प्रचंड बहुमत मिला है। नंदीग्राम से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की हार के बावजूद पार्टी में उत्साह है।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में खेला अभी बाकी है। ये खेला अब सुप्रीम कोर्ट में होगा। बात कर रहे हैं बंगाल की सबसे चर्चित विधानसभा सीट नंदीग्राम की। नंदीग्राम में चुनाव नतीजों को लेकर देर शाम तक उहापोह की स्थिति बनी रही। मीडिया में पहले ममता बनर्जी के 1200 मतों से जितने की खबर चलती रही, बाद में बीजेपी उम्मीदवार शुभेंदु अध‍िकारी को विजय घोषित कर दिया गया। चुनाव आयोग ने नंदीग्राम विधानसभा सीट पर फिर से मतगणना कराने के तृणमूल कांग्रेस के अनुरोध को खारिज कर दिया है। ममता बनर्जी ने इसे सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने जा रही हैं। ऐसे में अब राजनितिक प्रेक्षकों की निगाहें अदालत की ओर है।

बीजेपी के बड़े-बड़े दावों और आक्रामक चुनाव प्रचार के बाद भी पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में टीएमसी को प्रचंड बहुमत मिला है। नंदीग्राम से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की हार के बावजूद पार्टी में उत्साह है। तृणमूल कांग्रेस राज्य में लगातार तीसरी बार सरकार बनाने के लिए तैयार है। वहीँ बीजेपी के सारे नारे और दावे सिर्फ जुमला ही साबित हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि नंदीग्राम में ममता बनर्जी और उनके पूर्व सहयोगी व बीजेपी उम्मीदवार शुभेंदु अध‍िकारी के बीच रोचक मुकाबला था। पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से लेकर हर बीजेपी लीडर ने यहां पर पूरा जोर लगाया था। इस सीट पर वैश्विक मीडिया की भी निगाहें लगी थी। रविवार को दिनभर चली मतगणना में कभी शुभेंदु अध‍िकारी तो कभी ममता बनर्जी आगे रही। लेकिन आख‍िर में शुभेंदु अध‍िकारी को विजयी घोष‍ित कर दिया गया। इससे पहले रिपोर्टें आईं थी कि बनर्जी नंदीग्राम में 1,200 मतों से जीत गई हैं।

नंदीग्राम में बीजेपी उम्मीदवार शुवेंदु अधिकारी के विजय घोषित होने के बाद ममता बनर्जी ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा की नंदीग्राम को लेकर चिंतित न हों। मैंने नंदीग्राम के लिए संघर्ष किया, मैंने एक आंदोलन चलाया। मैं नंदीग्राम के लोगों के फैसले को स्वीकार करती हूं। मुझे कोई आपत्ति नहीं है। हम 221 से अधिक सीट जीते हैं और बीजेपी चुनाव हार गई है।

टीएमसी चीफ ने चुनाव आयोग के खिलाफसभी विपक्षी दलों से सुप्रेम कोर्ट जाने के लिए एकजुट होने की अपील करते हुए कहा कि सभी राजनीतिक दलों को इसपर विचार करना चाहिए कि एक संवैधानिक संस्था को इस तरह से काम नहीं करना चाहिए। टीएमसी का आरोप है कि ईवीएम में छेड़छाड़ की गई है। मतदान प्रक्रिया भी बार-बार रोकी गई, जिसकी जानकारी चुनाव अधिकारियों ने नहीं दी। पार्टी का आरोप लगाया कि बनर्जी के पक्ष में पड़े वैध मतों को खारिज कर दिया गया जबकि बीजेपी के पक्ष में अमान्य मतों को भी गिना गया।

निर्वाचन आयोग की घोषणा के मुताबिक़ नंदीग्राम सीट से शुभेंदु अधिकारी 1,956 मतों से विजयी हुए हैं। श्री अधिकारी को 1,10,764 मत मिले जबकि उनकी प्रतिद्वंद्वी ममता बनर्जी को 1,08,808 मत मिले। 6227 मतों के साथ सीपीएम की मीनाक्षी मुखर्जी तीसरे स्थान पर रहीं। हालांकि आधिकारिक नतीजे आने से पहले घंटों तक भ्रम की स्थिति रही।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button