Entertainment की आड़ में देवी-देवताओं का अपमान क्यों

अभी हाल ही में यूपी में तीन जगहों पर कथित वेब सीरीज तांडव के निर्माता, निर्देशक और भारत में अमेजन प्राइम के कंटेंट हेड के विरुद्ध FIR लिखाई गई है।

Entertainment. अभी हाल ही में यूपी में तीन जगहों पर कथित वेब सीरीज तांडव के निर्माता, निर्देशक और भारत में अमेजन प्राइम के कंटेंट हेड के विरुद्ध FIR लिखाई गई है। कहा जा रहा है कि इस वेब सीरीज में हिंदू देवी-देवताओं को अमर्यादित एवं अपमानजनक ढंग से दिखाया गया है। देशभर में इस वेब सीरीज को लेकर विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं। निर्देशक अब्बास अली जफ़र और एक्टर सैफ अली खान आदि को गिरफ्तार करने की माँग की जा रही है।

Entertainment- tandav web series
Entertainment- tandav web series

 

एक दौर था जब अंडरवर्ल्ड की मदद से बॉलीवुड में सक्रिय कट्टरपंथी और वामपंथी एक्टर, डायरेक्टर हिंदू धर्म, संस्कृति व परम्पराओं का तिरस्कृत एवं अपमानपूर्ण वर्णन करते थे। उद्देश्य था भारतीय जनमानस को अपने मूल धर्म-संस्कृति से दूर ले जाना। तुष्टिकरण की पालक सरकारों ने साहित्य, सिनेमा, इतिहास, संगीत,और शिक्षा के सुधार का दायित्व भी इन्हीं वामपथियों को सौंप दिया। भारत में हिंदू संस्कृति एवं धर्म का अपमान करना प्रगतिशीलता कहा जाने लगा।(Entertainment)

कोरोना वैक्सीन बनाने वाली इंस्टीट्यूट में हुआ बड़ा हादसा, अचानक लगी आग और॰॰॰

 

कुरीतियाँ सभी धर्मों में प्रवेश कर चुकीं हैं मगर एक की कुरीति पवित्र और दूसरे की अपवित्र कैसे हो सकती है? यदि कार्टून बना देने से धार्मिक भावनाएँ आहत हो सकती हैं तो हिंदू देवी-देवताओं के अमर्यादित दृश्य दिखाने की लालसा आपके मन में क्यों है? क्या भारतीय समाज की मर्यादाओं को तोड़ना ही मनोरंजन है?

विडंबना यह है कि हिन्दी फ़िल्म के अधिकांश संवाद उर्दू में होते हैं इसीलिये हम समझ नहीं पाते कि हमें गालियां दी जा रही है या प्रशंसा की जा रही है। सिनेमा को मनोरंजन की आड़ में निजी एजेंडा चलाने की अनुमति कैसे दी जा सकती है? (Entertainment)

सिनेमा का उद्देश्य स्वस्थ मनोरंजन के साथ-साथ समाज को प्रेरणा देना भी है। कलाकारों को जाति, धर्म, दल और किसी विचारधारा विशेष से ऊपर उठकर सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय की भावना से कला प्रदर्शन करना चाहिए। कला की साधना ईश्वर की ही आराधना है यदि उसका दुरुपयोग ईश्वर के अपमान के लिए होने लगे तो फिर उसपर संवैधानिक कार्रवाई तो होनी ही चाहिए। (Entertainment)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button