इन योजना ने बनाया रिकॉर्ड, बेरोजगार हुए मजदूरों व परिवारों के लोगों को मिला काम

मनरेगा के काम का बना रिकॉर्ड

हरदा॥ जिले में कोरोना काल में मजदूरों को काम उपलब्ध कराने का उल्लेखनीय प्रयास किया गया। जिसकी बदौलत लक्ष्य से अधिक परिवारों के कामकाजी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराकर उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार लाया गया। जिला पंचायत द्वारा अधिक से अधिक मजदूरों को काम उपलब्ध कराने के मकसद से जनहित के निर्माण व विकास कार्यों को चालू करवाए गए। औसतन सभी पंचायतों में सड़क, तालाब, नाली आदि के काम हुए और हो रहे हैं। इससे पिछले अनेक वर्षों की तुलना में सर्वाधिक मजदूरों को काम मिला।

Rojgar

चालू वित्तीय वर्ष में कोरोना काल के दौरान करीब 36 हजार जॉब कार्डधारी परिवार के 70 हजार मजदूरों को काम उपलब्ध कराया गया। जिला पंचायत ने मजदूरों को काम उपलब्ध कराने की योजना बनाई और उसका प्रभावी क्रियान्वयन हरदा, खिरकिया और टिमरनी जनपद पंचायत की प्रत्येक पंचायतों में करवाया। जिसके परिणाम स्वरूप बेरोजगार हुए मजदूरों व परिवारों के लोगों को काम मिला। संकट के समय मनरेगा से उनके परिवार में खुशहाली आई और आजीविका का सहारा मिला।

काम धंधा बंद होने और अन्यत्र रहने वाले मजदूर कोरोना महामारी के कारण गांव आ गए थे जिसको ध्यान में रखते हुए मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत डॉ राम कुमार शर्मा ने राज्य शासन द्वारा जारी गाइडलाइन को ध्यान में रखते हुए बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए अनेक काम शुरू किए।

तालाब का निर्माण, गहरीकरण, सड़क, खेत सड़क, मुरमीकरण, बजरीकरण, नाले का गहरीकरण, रपटा, सहस्टाप डेम आदि काम मनरेगा के तहत औसतन सभी पंचायतों में काम करवाए गए। जिसके कारण संकट के समय काम मिलने से उनके परिवार की आर्थिक तंगी दूर हुई और रोजगार मिलने से परिवार का खर्चा चलाने में जो दिक्कत एवं परेशानी आ रही थी वह दूर हो गई।

कोरोना काल में मनरेगा के तहत सर्वाधिक कार्यों को कराने का एक रिकॉर्ड बन गया है। सत्र 2016-17, 2017-18, 2018-19, 2019-20 का तुलना कम अध्ययन किया जाए तो 2020-21 में सर्वाधिक सृजित मानव दिवस के जरिए रिकॉर्ड मजदूरों को काम उपलब्ध कराया गया । जिले में 13 लाख 2 हजार 28 सृजित मानव दिवस के जरिए काम उपलब्ध कराए गए जो अन्य वर्षो की तुलना में अधिक है। जिले में कोरोना काल में 12 से 14 हजार मजदूरों को रोजाना काम मिल रहा जो अपने आप एक नया रिकार्ड है।

क्या कहते जवाबदार

कोरोना काल में मध्यप्रदेश शासन द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए रिकॉर्ड मानव दिवस सृजित करके 36 हजार परिवार के 70 हजार मजदूरों को काम उपलब्ध कराया गया। 12 से 14 हजार मजदूर रोजाना काम कर रहे हैं। गरीब मजदूर परिवारों को आर्थिक लाभ के साथ-साथ पंचायतों का विकास अपेक्षा और आशा के अनुरूप हुआ। डॉ रामकुमार शर्मा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत, हरदा ।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button