योगी सरकार इंजीनियरिंग और व्यवसायिक छात्रों को देगी बड़ा तोहफा, मिशन रोजगार के तहत करने जा रहे ये काम

मुख्यमंत्री इंजीनियरिंग और व्यावसायिक शिक्षा के छात्रों को बड़ा तोहफा देंगे। इसके तहत सरकार प्रदेश में इंजीनियरिंग और व्यवसायिक शिक्षा के 20 लाख छात्रों का पूरा ब्योरा तैयार करेगी।

लखनऊ।। कोरोना संक्रमण काल में योगी सरकार राज्य की आर्थिक गतिविधियों को पटरी पर लाने के साथ जहां सरकारी महकमों में भर्ती प्र​क्रिया को तेजी से पूरा करते हुए उन्हें रोजगार दिलाने की कवायद में जुटी है। वहीं मुख्यमंत्री के मिशन रोजगार के तहत एक और कदम बढ़ाते हुए प्रभावी पहल की जा रही है।

मुख्यमंत्री इंजीनियरिंग और व्यावसायिक शिक्षा के छात्रों को बड़ा तोहफा देंगे। इसके तहत सरकार प्रदेश में इंजीनियरिंग और व्यवसायिक शिक्षा के 20 लाख छात्रों का पूरा ब्योरा तैयार करेगी। इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री योगी आज ‘यू राइज’ की अहम बैठक भी करेंगे।

यू राइज सॉफ्टवेयर पर प्रत्येक छात्र के प्रवेश लेकर रोजगार पाने तक का पूरा ब्योरा होगा। ई शिक्षा नीति 2020 को लागू करने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्य बना है। यू राइट सॉफ्टवेयर पर छात्रों के हर ब्योरे के साथ ही ई कंटेंट और ई लाइब्रेरी उपलब्ध होगी। कोई भी छात्र, शिक्षक या संस्थान अध्ययन के लिए कहीं भी इसका उपयोग कर सकेगी। सरकार के इस कदम से मेधावी और आर्थिक छात्रों को बेहद मदद मिलेगी।

रोजगार के लिहाज से 20 लाख छात्रों का डेटा बेहद महत्वपूर्ण होगा। इसके जरिए कम्पनियों को अपने वहां नौकरी के लिए योग्य प्रतिभावान युवाओं को चयन करने में भी मदद मिलेगी। यू राइज यूनिफाइड सॉफ्टवेयर में पूरा छात्र चक्र दर्ज होगा। छात्रों के प्रवेश से लेकर सत्र फीस और रोजगार मिलने तक की हर जानकारी उसमें उपलब्ध होगी। पहले चरण में 20 लाख छात्र जुड़ने के बाद आगे भी छात्रों को इससे जोड़ा जाएगा।

इसके साथ ही सरकार के तकनीकी व व्यवसायिक शिक्षण संस्थानों के कायाकल्प के लिए आज 200 करोड़ रुपये की धनराशि भी जारी की जाएगी। सरकार पंडित दीनदयाल उपाध्याय प्रोत्साहन योजना के तहत सरकारी संस्थानों को 200 करोड़ रुपये पहले भी दे चुकी है।

दीनदयाल उपाध्याय प्रोत्साहन कार्यक्रम 2017 में प्रारम्भ हुआ था। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी (एकेटीयू) के सभी इंजीनियरिंग कॉलेज इससे सम्बद्ध हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button