अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करुणा शुक्ला नहीं रही, निष्ठुर कोरोना ने ली जान

लखनऊ। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी और वरिष्ठ कांग्रेस नेता करुणा शुक्ला ने सोमवार की देर रात दुनिया को अलविदा कह दिया। करूणा शुक्ला कोरोना से संक्रमित थी। करूणा शुक्ला के निधन पर कांग्रेस नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है। वर्ष 2004 में करुणा शुक्ला जांजगीर से लोकसभा सदस्य निर्वाचित हुई थी।

करुणा शुक्ला ने पिछले छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में बतौर कांग्रेस उम्मीदवार पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के विरुद्ध चुनाव लड़ा था, हालांकि उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा था। इससे पहले करुणा वर्ष 2004 में बतौर भाजपा उम्मीदवार जांजगीर से लोकसभा चुनाव जीता था, लेकिन 2009 में वह कोरबा से हार गईं।

करूणा शुक्ला लगभग तीस साल तक भारतीय जनता पार्टी से जीडी रही। पार्टी में उपेक्षा के चलते फरवरी, 2014 में वह कांग्रेस में शामिल हो गई थी। करूणा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी थी और वह अटल जी का बहुत ख्याल रखती थी। उनके निधन पर राजनीतिज्ञों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने दुःख प्रकट किया है।

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने करूणा शुक्ला को श्रद्धांजलि दी है। सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट किया कि मेरी करुणा चाची यानी करुणा शुक्ला जी नहीं रहीं। निष्ठुर कोरोना ने उन्हें भी लील लिया। राजनीति से इतर उनसे बहुत आत्मीय पारिवारिक रिश्ते रहे और उनका सतत आशीर्वाद मुझे मिलता रहा। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान दें और हम सबको उनका विछोह सहने की शक्ति।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button