उपचुनाव से पहले उत्तराखंड की सियासत में मची खलबली, CM Rawat दिल्ली के लिए रवाना

राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर मुख्यमंत्री को दिल्ली बुलाया गया था इसे चुनाव की तैयारियों से जोड़कर देखा जा रहा है।

देहरादून।। बुधवार को केंद्रीय नेतृत्व के बुलावे पर उत्तराखंड राज्य के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत (CM Rawat) BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलने दिल्ली पहुंचे।

लेकिन देर रात तक उनकी राष्ट्रीय अध्यक्ष से मुलाकात नहीं हो पाई थी। साढ़े तीन महीने पहले प्रदेश सरकार में आकस्मिक रूप से हुए नेतृत्व परिवर्तन के बड़े राजनीतिक घटनाक्रम के परिप्रेक्ष्य में मुख्यमंत्री तीरथ (CM Rawat) को अचानक आलाकमान द्वारा दिल्ली बुलाए जाने से सियासी हलकों में तरह-तरह की चर्चाएं उठने लगीं हैं।

राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर मुख्यमंत्री (CM Rawat) को दिल्ली बुलाया गया था इसे चुनाव की तैयारियों से जोड़कर देखा जा रहा है। इस बात पर भी जोर दिया जा रहा है कि अगर उपचुनाव होते हैं तो मुख्यमंत्री गंगोत्री सीट से शायद ही चुनाव लड़ें क्योंकि देवस्थानम बोर्ड को लेकर वहां तीर्थ पुरोहित नाराज चल रहे हैं।

इस वजह से मुख्यमंत्री गढ़वाल संसदीय सीट के अंतर्गत आने वाली किसी विधानसभा सीट को तवज्जो दे सकते हैं। आगामी चुनाव को लेकर यह भी कहा जा रहा है कि अगर उपचुनाव की स्थिति नहीं बनी तो सरकार में फिर से नेतृत्व परिवर्तन हो सकता है।

अब Driving License बनवाने के लिए नहीं करना होगा ये काम, परिवहन मंत्रालय ने नियमों में किये बड़े बदलाव

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button