बड़ी खबर: कंगना रनौत का ट्विटर अकाउंट हमेशा के लिए हुआ सस्पेंड!

कंगना ने ट्विटर पर बीजेपी की महिला नेता की तस्वीर शेयर कर यह दावा भी किया था कि टीएमसी के लोगों ने उसका गैंगरेप किया है। जिसके बाद उनका ट्विटर अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया है।

बॉलीवुड।। अभिनेत्री कंगना रनौत का चर्चा में रहना कोई नई बात नहीं हैं। पिछले कुछ दिनों से कंगना ट्विटर पर लगातार विवादित बयान दे रही हैं, खासकर बंगाल चुनाव में हुई भाजपा की हार और तृणमूल कांग्रेस की जीत को लेकर। मंगलवार को एक्ट्रेस ने पश्चिम बंगाल में हो रही हिंसा को लेकर नाराजगी जाहिर की थी। साथ ही केंद्र सरकार से बंगाल में राष्ट्रपति शासन की मांग की थी।

कंगना ने अपने लेटेस्ट ट्वीट में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को ‘खून की प्यासी राक्षसी ताड़का बताया था । इसके अलावा कंगना ने पीएम मोदी को ये भी सलाह दी है कि वो सुपर गुंडई करें और नरेंद्र मोदी को अपना 2000 वाला विराट रुप भी दिखाना चाहिए, जिसे ट्विटर यूजर्स ने इसे गुजरात के दंगों से जोड़ते हुए, कंगना के ट्वीट को हिंसा और विद्वेष फैलाने वाला करार देते हुये कंगना के ट्विटर अकांउट को सस्पेंड करने के लिए ट्विटर से रिपोर्ट की थी।

इसके अलावा कंगना ने ट्विटर पर बीजेपी की महिला नेता की तस्वीर शेयर कर यह दावा भी किया था कि टीएमसी के लोगों ने उसका गैंगरेप किया है। जिसके बाद उनका ट्विटर अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया है। हालांकि, कंगना ने जिस महिला की तस्वीर शेयर की है उस महिला का चेहरा छुपाया हुआ था।

कंगना के इन विवादित ट्विटस के बाद ऐक्शन लेते हुए ट्विटर ने कंगना का अकाउंट सस्पेंड कर दिया है। रिपोर्टस के अनुसार ट्विटर ने अपने आधिकारिक बयान में कहा है कि कंगना रनौत लगातार उसके ‘हेटफुल कंडक्ट पॉलिसी’ का उल्लंघन कर रही थीं और इसलिए अब उनका अकाउंट हमेशा के लिए सस्पेंड कर दिया गया है। इससे पहले जनवरी में कंगना का ट्विटर अकांउट अस्थायी रूप से सस्पेंड किया गया था।

वर्कफ्रंट की बात करे तो कंगना रनौत जल्द ही रजनीश घई की फिल्म ‘धाकड़’ , सर्वेश मेवाड़ की फिल्म ‘तेजस’ और ए एल विजय द्वारा निर्देशित तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री व अभिनेत्री जयललिता की बायोपिक ‘थलाइवी’ में मुख्य भूमिका में नजर आयेंगी। हाल ही कंगना ने अपनी नई फिल्म ‘मणिकर्णिका रिटर्न्स: द लीजेंड ऑफ दिद्दा’ की भी घोषणा की हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button