इस राज्य में झमाझम बारिश के साथ छाया घना कोहरा, दो दिन बाद कड़ाके की ठंड के आसार

वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि अरब सागर से लगातार मिल रही नमी के कारण मध्य प्रदेश में कई स्थानों पर बरसात का सिलसिला रुक-रुककर जारी है।

भोपाल।। पिछले चार दिनों से हो रही मावठा की बारिश के बाद अब मप्र में ठंड जोरों पर है। राजधानी भोपाल पूरी तरह से कोहरे के आगोश में है। ठिठूरन भरी ठंड ने लोगों को कंपकपाने पर मजबूर कर दिया है और गर्म चाय की चुस्की ठंड में लोगों को बड़ा सहारा दे रही है। सोमवार को भी सुबह के समय कोहरा छाया हुआ हैं। सुबह 9 बजे भोपाल में झमाझम बारिश हुई। मौसम विभाग के मुताबिक वातावरण में नमी कुछ कम होना शुरू होगी। इससे दिन के तापमान में कुछ बढ़ोतरी होने लगेगी। साथ ही रात के तापमान में गिरावट होगी। दो दिन बाद प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर कड़ाके की ठंड शुरू होने की संभावना है।

वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि अरब सागर से लगातार मिल रही नमी के कारण मध्य प्रदेश में कई स्थानों पर बरसात का सिलसिला रुक-रुककर जारी है। आज भी कई जगह बूंदाबांदी के आसार हैं। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक लगातार बादल बने रहने से दिन का तापमान अनेक स्थानों में सामान्य से नीचे दर्ज किया जा रहा है। इससे दिन में ठंडक महसूस हो रही है।

सोमवार से पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत से आगे बढऩे पर वातावरण में नमी कम होने लगेगी। साथ ही हवा का रुख भी बदलकर उत्तरी होने की संभावना है। इससे राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के कुछ स्थानों पर रात के तापमान में गिरावट का सिलसिला शुरू होने के आसार हैं।

मौसम विभाग के अनुसार वर्तमान में अरब सागर में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इस सिस्टम से दक्षिण-पश्चिमी मप्र तक एक द्रोणिका लाइन (ट्रफ) बनी हुई है। उत्तर-पश्चिमी राजस्थान पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात मौजूद है। इसके अतिरिक्त एक पश्चिमी विक्षोभ पाकिस्तान और उसके आसपास बना हुआ है। इन तीन सिस्टम के कारण प्रदेश में बड़े पैमाने पर नमी आ रही है।

इस वजह से कई स्थानों पर हल्की बारिश हो रही है। दिन के तापमान में लगातार गिरावट बनी रहने के कारण अब तेज बौछारें पडऩे की उम्मीद कम है। सोमवार को सुबह के समय उज्जैन संभाग के जिलों के अलावा अशोकनगर, ग्वालियर, गुना, छतरपुर, रायसेन, विदिशा, भोपाल, राजगढ़, जबलपुर, होशंगाबाद और सीहोर जिले में घना कोहरा छाने की संभावना है।

बर्फबारी जारी, पड़ेगी कड़ाके की ठंड–

उत्तर भारत में अभी एक पश्चिमी विक्षोभ मौजूद है। उसके प्रभाव से बर्फबारी जारी है। इससे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। दो दिन बाद हवा का रुख उत्तरी होने की संभावना है। सर्द हवाओं के कारण पूरे प्रदेश में कड़ाके की ठंड का दौर शुरू होने की संभावना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button