11 घण्टे का सफर तय कर कानपुर देहात पहुंचा मुख्तार का काफिला!

मुख्तार अंसारी के पंजाब से उत्तर प्रदेश आने की खबर के बाद से ही पुलिस महकमे में हलचल मची हुई है। मुख्तार को पंजाब से उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में सुरक्षित लाने की जिम्मेदारी को यूपी पुलिस के कर्मी जान हथेली पर लेकर निभा रहे हैं।

कानपुर देहात।। उत्तर प्रदेश का माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को मंगलवार को पंजाब से प्रदेश लाया जा रहा है। पंजाब की जेल से यूपी का भारी पुलिस बल उसे 11 घन्टे का सफर तय लगभग देर रात कानपुर देहात जनपद लेकर पहुंचा। पुलिस का काफिले को अभी भी यहां से काफी दूरी का सफर तय कर बांदा पहुचना है। पुलिस का यह काफिला औरैया होते हुए जनपद की सीमा सिकंदरा में प्रवेश कर गया है। खराब रास्ते के चलते अभी इस काफिले को लगभग एक घण्टे से ज्यादा कानपुर देहात की सीमाओं में गुजारते हुए निकलने में लगेंगे। इसको देखते हुए भारी सुरक्षा बंदोबस्त जिला पुलिस द्वारा किये गए हैं।

 

मुख्तार अंसारी के पंजाब से उत्तर प्रदेश आने की खबर के बाद से ही पुलिस महकमे में हलचल मची हुई है। मुख्तार को पंजाब से उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में सुरक्षित लाने की जिम्मेदारी को यूपी पुलिस के कर्मी जान हथेली पर लेकर निभा रहे हैं। यही कारण है कि यहां पहुचने तक लगभग 800 किलोमीटर से ज्यादा लम्बे रास्ते को लगभग पुलिस के काफिले ने पार कर लिया है। पुलिस का यह काफिला देर रात 12 बजकर 10 मिनट के आस-पास कानपुर देहात जनपद की सीमा में प्रवेश किया।

आगरा से इटावा और औरैया होते हुए मुख्तार की एम्बुलेंस अब जनपद कानपुर देहात के सिकंदरा थानाक्षेत्र में प्रवेश कर गई है। इस जगह से कानपुर देहात की पुलिस उसको अपने जनपद की सीमा से बाहर तक सुरक्षा देकर आगे भेज देगी। वहीं यह काफिला सिकंदरा से भोगनीपुर और मूसानगर होते हुए घाटमपुर और हमीरपुर के बाद बांदा पहुँच जाएगा। सूत्रों की माने तो सिकंदरा से भोगनीपुर और मूसानगर तक पहुंचने के लिए काफिले को कुछ समय लगेगा। सड़क में गड्ढे होने के चलते काफिले की रफ्तार भी धीमी कर चलना होगा।

सिकंदरा थानाक्षेत्र से सट्टी तक तीन बार रुका काफिला–

कानपुर देहात की सीमा में प्रवेश करने के बाद मुख्तार का काफिला तीन बार रुक चुका है। खराब सड़क होने के चलते इस काफिले की रफ्तार तो कम हो ही गई है वहीं इसको तीन बार रुकना भी पड़ा है। तेज रफ्तार में चलता हुआ जब काफिला सट्टी थाने के पास रुक गया और काफिले में चलने वाली वह एंबुलेंस जिसमे मुख्तार था वो अचानक गायब हो गई। साथ मे चलने वाले मीडिया कर्मियों के मन मे कई सवाल खड़े हुए कोई कुछ बताने को तैयार नही था। 10 मिनट बाद एंबुलेंस फिर से वापस आ गई और बताया गया कि मुख्तार को बाथरूम करना था।

पल-पल की खबर लेते रहे मुख्यमंत्री–

पंजाब से बांदा लाने के लिए पुलिस की लगभग एक सैकड़ा पुलिस कर्मियों को लगाया गया है। सुरक्षा उपकरणों व आधुनिक हथियारों से यूपी के बांदा से पहुंचने वाली टीम में एक डीएसपी, दो इंस्पेक्टर, छह एएसआई, 20 हेड कांस्टेबल, 30 कांस्टेबल, पीएसी की एक प्लाटून, जीपीएस से लैस वज्र वाहन, नौ पुलिस वाहन, डॉक्टर और एंबुलेंस शामिल हैं। आधी रात को कानपुर देहात जनपद से काफिला गुजर गया जिसमें मुख्तार एक एम्बुलेंस में मौजूद है। मुख्तार की पल-पल की खबर मुख्यमंत्री देर रात तक लेते रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button