नक्सलियों के गढ़ में एयर स्ट्राइक की खबर ! पुलिस ने बताया ने प्रोपगैंडा वार

डेस्क। छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के गढ़ में पहली बार एयर स्ट्राइक की खबर है। बताया जा रहा है कि सुरक्षा बलों ने बीजापुर में ड्रोन से 12 बम गिराए हैं। हालांकि हमले से पहले ही माओवादियों ने जगह बदल ली थी, जिसके चलते उन्हें किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ। नक्सलियों ने ब्लास्ट के बाद जमीन में हुए गड्ढों की तस्वीरें भी जारी की हैं। हालांकि पुलिस विभाग और सीआरपीएफ ने एयर स्ट्राइक के आरोपों को नकारते हुए कहा है कि आदिवासियों की सहानुभूति हासिल करने के लिए यह नक्सलियों का प्रोपगैंडा वार है।

दंडकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी (डीकेएसजेडसी) के प्रवक्ता विकल्प ने प्रेस नोट जारी कर एयर स्ट्राइक का दावा किया है। प्रेस नोट में कहा गया है कि सुरक्ष बालों द्वारा 19 अप्रैल दोपहर तीन बजे बीजापुर जिले केबोत्तालंका और पाला गुडेम गांवों के बीच ड्रोन के जरिए बमबारी की गई। इस बमबारी में 12 बम गिराए गये थे। इससे पेड़-पौधे, कुछ जंगली जानवर को नुकसान हुआ है।

प्रेस नोट में कहा गया है कि आसमान में लगातार ड्रोन और हेलिकाप्टर घूमता देख जनता और पीएलजीए ने तुरंत अपनी जगह बदल ली थी, जिससे एक बड़े खतरे को टाल दिया। बयान के मुताबिक़ गत तीन अप्रैल को बीजापुर जिले के टेकुलगुडम में हुई पुलिस-नक्सली मुठभेड़ का बदला लेने के लिए गृह मंत्री अमित शाह और पुलिस अधिकारियों ने एयर स्ट्राइक करवाई है।

पुलिस ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा है कि पिछले कुछ समय से बस्तर क्षेत्र में तेजी से जमींन खिसकने से बौखलाए माओवादी संगठन निर्दोष आदिवासी ग्रामीणों की हत्या, तोड़फोड़, आगजनी जैसी हरकतें कर रहे हैं। इसी तरह सीआरपीएफ ने भी एयरस्ट्राइक की बात को नकारते हुए कहा है कि नक्सली लोगों की सहानुभूति हासिल करने के लिए इस तरह के हथकंडे अपना रहे हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button