मार्गशीर्ष महीना शुरू, जानें इसका महत्व और इस महीने ये 5 बातें रखें ध्यान

मार्गशीर्ष माह महीने को जप, तप और ध्यान के लिए सर्वोत्तम माना जाता है. इस महीने में पवित्र नदियों में स्नान करना विशेष फलदायी होता है. इस बार मार्गशीर्ष का महीना 01 दिसंबर से 30 दिसंबर तक रहेगा.

आज से मार्गशीर्ष का महीना शुरू हो चुका है. इसे हिंदू शास्त्रों में सर्वाधिक पवित्र महीना माना जाता है. यह इतना पवित्र है कि भगवान गीता में कहते हैं कि महीनों में मैं खुद मार्गशीर्ष हूं. इसी महीने से सतयुग का आरम्भ माना जाता है.

Margashirsha

मार्गशीर्ष माह महीने को जप, तप और ध्यान के लिए सर्वोत्तम माना जाता है. इस महीने में पवित्र नदियों में स्नान करना विशेष फलदायी होता है. इस बार मार्गशीर्ष का महीना 01 दिसंबर से 30 दिसंबर तक रहेगा.

मार्गशीर्ष महीने में लाभ

इस महीने में मंगलकार्य विशेष फलदायी होते हैं. श्रीकृष्ण की उपासना और पवित्र नदियों में स्नान विशेष शुभ होता है. इस महीने में संतान के लिए वरदान बहुत सरलता से मिलता है. साथ ही साथ चन्द्रमा से अमृत तत्व की प्राप्ति भी होती है. इस महीने में कीर्तन करने का फल अमोघ होता है.

किन 5 बातों का रखें ध्यान रखें?

इस महीने में तेल की मालिश बहुत उत्तम होती है. इस महीने से स्निग्ध चीजों का सेवन आरम्भ कर देना चाहिए. इस महीने में जीरे का सेवन नहीं करना चाहिए. मोटे वस्त्रों का उपयोग आरम्भ कर देना चाहिए. इस महीने से संध्याकाल की उपासना अवश्य करनी चाहिए

मार्गशीर्ष में कैसे चमकाएं किस्मत?

इस महीने में नित्य गीता का पाठ करें. जहां तक संभव हो भगवान कृष्ण की उपासना करें. तुलसी के पत्तों का भोग लगाएं और उसे प्रसाद की तरह ग्रहण करें. पूरे महीने “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय” का जप करें. अगर इस महीने किसी पवित्र नदी में स्नान का अवसर मिले तो अवश्य करें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button