सादगी से मनाया जा रहा रामनवमी का पर्व, श्रद्धालुओं से मंदिर न आने की अपील

अयोध्या के सभी प्रमुख मंदिरों के मुख्य कपाट बंद कर दिए गए हैं। जिससे श्रद्धालु आज रामलला के दर्शन नहीं कर पा सकेंगे। पहले से ही अयोध्या धाम की सीमा सील कर दी गई है।

अयोध्या।। राम नगरी के साथ पूरे देश में कोरोना काल में लगातार दूसरी बार रामनवमी का पर्व सादगी के साथ बुधवार को मनाया जा रहा है। हर वर्ष आज के दिन राम जन्मोत्सव का पर्व अयोध्या में बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता रहा है, लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण की वजह से एक बार फिर श्रद्धालुओं से घरों में ही रामनवमी का पर्व मनाने की अपील की गई थी।

अयोध्या के सभी प्रमुख मंदिरों के मुख्य कपाट बंद कर दिए गए हैं। जिससे श्रद्धालु आज रामलला के दर्शन नहीं कर पा सकेंगे। पहले से ही अयोध्या धाम की सीमा सील कर दी गई है। अयोध्या धाम में आम श्रद्धालु प्रवेश नहीं कर पाएंगे। जिला प्रशासन के निर्देश पर अगर अयोध्या कोई आता है तो उसे 48 घंटे पुरानी कोविड की निगेटिव रिपोर्ट दिखानी पड़ेगी। पूरी सादगी के साथ श्रीराम जन्मभूमि परिसर में रामलला का जन्मोत्सव मुख्यपूजारी की देखरेख में मनाया जा रहा है।

विधि विधान के साथ आज दोपहर 12 बजे भगवान राम का जन्म होगा। सामूहिक सरयू स्नान पर प्रतिबंध जिला प्रशासन ने रामनवमी के मुख्य पर्व पर सामूहिक सरयू स्नान पर प्रतिबंध लगा दिया है। प्रशासन ने भक्तों से अपील की है कि वे रामनवमी पर अयोध्या न आकर घरों पर ही पूजा-अर्चना करें। देश कोरोना महामारी की विषम परिस्थिति से जूझ रहा है, इससे निपटने के लिए बनाए गए नियमों का पालन करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button