UP: गंगा दशहरा पर इस बार श्रद्धालु नहीं लगा पाएंगे डुबकी, प्रशासन ने लगाई पाबन्दी

कुछ श्रद्धालु गाजियाबाद से हरिद्वार भी गंगा तट पर स्नान के लिए जाते हैं। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने बताया कि गंगा से जुड़े सभी घाटों पर स्नान पर पाबंदी लगा दी गई है, ताकि कोरोना संक्रमण ना फैले।

गाजियाबाद।। पवित्र गंगा दशहरा पर्व पर इस बार श्रद्धालु मुरादनगर गंग नहर व गढ़मुक्तेश्वर और बृजघाट गंगा नदी तट पर स्नान नहीं कर पाएंगे। कारण कोरोना गाइडलाइन के चलते शासन और प्रशासन ने गंगा स्नान पर पाबंदी लगा दी है। 20 जून रविवार को गंगा दशहरा का पर्व है। इसी दिन यानि ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष के दसवें दिन को दशहरा पर मां गंगा का अवतरण पृथ्वी पर हुआ था।

उत्तर भारत के प्रमुख सिद्ध पीठ दूधेश्वर नाथ मंदिर मठ के महंत नारायण गिरी ने शनिवार को बताया कि कोरोना को ध्यान में रखते हुए शासन और प्रशासन के आदेश पर निर्णय किया गया है कि इन परिस्थितियों में गंगा दशहरा के दिन गंगाजल युक्त पानी से श्रद्धालु स्नान करें और इसके बाद भगवान सूर्य देव को अर्ध्य दें।

गाजियाबाद की बात करें तो यहां पर मुरादनगर व मसूरी से होकर गंग नहर गुजरती है। इन दोनों स्थानों पर प्रत्येक वर्ष श्रद्धालु गंगा दशहरा पर स्नान करने के बाद पूजा अर्चना व दान करते हैं। इसके अलावा कुछ श्रद्धालु हापुड़ जनपद के गढ़मुक्तेश्वर ब्रजघाट पर भी गंगा स्नान कर पूजा अर्चना करते हैं। कुछ श्रद्धालु गाजियाबाद से हरिद्वार भी गंगा तट पर स्नान के लिए जाते हैं। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने बताया कि गंगा से जुड़े सभी घाटों पर स्नान पर पाबंदी लगा दी गई है, ताकि कोरोना संक्रमण ना फैले।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button