लखनऊ में दो युवतियों ने आपस में रचाई शादी, फिर बताई हैरान कर देने वाली वजह

ठाकुरगंज थाना क्षेत्र में दो युवतियों के द्वारा विवाह करने का मामला प्रकाश में आया है। युवतियां एक-दूसरे को बहुत प्रेम करती है। परिवार के द्वारा परेशान करने पर एक युवती ने पुलिस से गुहार लगाई है।

लखनऊ। ठाकुरगंज थाना क्षेत्र में दो युवतियों के द्वारा विवाह करने का मामला प्रकाश में आया है। युवतियां एक-दूसरे को बहुत प्रेम करती है। परिवार के द्वारा परेशान करने पर एक युवती ने पुलिस से गुहार लगाई है।

marriage of two women

एक साल से चल रहा था दोनों के बीच प्रेमप्रसंग

ठाकुरगंज के दुबग्गा में रहने वाली एक युवती मंगलवार को थाने पहुंचकर मदद की गुहार लगाई है। युवती ने बताया कि बीते एक साल से क्षेत्र में रहने वाली युवती प्रेमप्रसंग चल रहा था। जब परिवार को जानकारी हुई तो उन्होंने इसका विरोध किया। इस उन दोनों ने परिवार को बिना बताए 17 नवम्बर 2020 को बुद्धेश्वर मन्दिर में शादी कर ली। जब इसकी जानकारी एक युवती के परिवार को हुई तो उसे घर में कैद कर दिया। मोबाइल फोन तक छीन लिया।

पुलिस ने घर में कैद युवती को आजाद कराया

मंगलवार को वह छत से कूदकर बाहर निकली और मदद के लिए थाने पहुंची। जबकि दूसरी युवती घर में ही कैद है। घटना की जानकारी पर पहुंची पुलिस ने घर में कैद युवती को आजाद कराया।

थाना प्रभारी सुनील दुबे बोले

थाना प्रभारी सुनील दुबे ने बताया कि दोनों बालिग हैं और शादी कर चुकी हैं। साथ रहना चाहती हैं, लेकिन परिवारवाले इसका विरोध कर रहे थे। मंगलवार की शाम एक युवती ने थाने अपने परिवार की शिकायत दर्ज करायी है। काफी देर तक चले बहस के बाद दोनों युवतियों के परिजनों को समझौता करवाया गया है।

बोलीं, पुनर्जन्म में पति पत्नी थे

युवतियों का कहना है की वह दोनों पुनर्जन्म में पति पत्नी थे। उनका कहना था अब आगे वह अपना जीवन यापन करने के लिए किराये का घर लेकर साथ में जिंदगी गुजारेंगी। दोनों के ही परिवार इस शादी के लिए राजी नहीं थे सभी को समाज में होने वाली बदनामी का डर सता रहा था।

समलैंगिकता अब अपराध नहीं

उल्लेखनीय है कि सर्वोच्च न्यायालय ने 06 सितम्बर 2018 को समलैंगिकता को अपराध की श्रेणी से हटा दिया है। इसके मुताबिक, आपसी सहमति से दो वयस्कों के बीच बनाए गए समलैंगिक संबंध को अब अपराध नहीं माना जायेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button