कोरोना वायरस की श्रृंखला को तोड़ने के राष्‍ट्रीय लॉकडाउन जरुरी : Covid-19 Task Force

नई दिल्‍ली। देश में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर ने प्रचंड रूप धारण कर लिया है। कोरोना के नए मामले रोजाना रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। अब तो कोरोना के नए मरीजों की संख्‍या ने चार लाख के आंकड़े को भी पार कर लिया है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए कोविड-19 टास्‍क फोर्स (Covid-19 Task Force) ने केंद्र सरकार से राष्‍ट्रीय लॉकडाउन लगाए जाने की अपील की है। हालांकि अभी तक केंद्र सरकार राष्‍ट्रीय लॉकडाउन से बचती रही है।

कोरोना की दूसरी लहर पीक पर जाती नजर आ रही है। ये लहार पहले से कई गुना घातक है। कोविड-19 टास्‍क फोर्स के सदस्यों का कहना है कि कोरोना वायरस तेजी से अपना रूप बदल रहा है, जिसके कारण उस पर काबू पाना मुश्किल हो गया है। टास्‍ट फोर्स ने कहा है कि यदि कोरोना संक्रमण के मामलों में इसी तरह इजाफा होता रहा तो देश का स्‍वास्‍थ्‍य ढांचा पूरी तरह से टूट जाएगा।

बताते चलें कि कोविड-19 टास्क फोर्स में एम्स और आईसीएमआर आदि प्रमुख स्वास्थ्य संस्थानों के विशेषज्ञ शामिल हैं। कोरोना के बढ़ते मामलोंके बीच टास्क फोर्स के सदस्यों की कई बार बैठक हो चुकी हैं। इन बैठकों में कोरोना संक्रमण से निपटने के उपायों पर विमर्श होता है। टास्क फोर्स के अध्यक्ष वी के पॉल बैठकों के नतीजों और सुझाये गए फार्मूलों की जानकारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंचाते हैं।

उल्लेखनीय है कि देश में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत 20 अप्रैल को राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में स्पष्ट तौर पर कहा था कि हम सब लोगों को मिलकर लॉकडाउन से बचने का प्रयास करना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि लॉकडाउन केवल ‘अंतिम उपाय’ के रूप में उपयोग किया जाना चाहिए। हालांकि आज बारह दिन बाद हालात और ज्यादा खतरनाक हो गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button