India Germany Relations: भारत के साथ संबंधों को और भी मजबूत करेगा जर्मनी का नया गठबंधन, चीन को दिया कड़ा संदेश

img

वर्ल्ड डेस्क. (India Germany Relations) जर्मनी में नए गठबंधन ने भारत के साथ घनिष्ठ संबंधों की रूपरेखा तैयार की है और चीन से शांति, स्थिरता के लिए जिम्मेदार भूमिका निभाने की उम्मीद जताई है। ओलाफ स्कोल्ज के नेतृत्व में नव निर्वाचित त्रिपक्षीय गठबंधन, जो सोशल डेमोक्रेट्स, ग्रीन्स और लिबरल के बीच गठित हुआ है, ने कहा है कि जर्मनी का भारत के साथ गहरा संबंध बना रहेगा।

India Germany Relations

हालांकि, गठबंधन ने दूसरी तरफ चीन से निपटने के लिए कड़ा रुख अख्तियार किया है। इसके मुताबिक गठबंधन को चीन के साथ अपने संबंधों को साझेदारी, प्रतिस्पर्धा और प्रणालीगत प्रतिद्वंद्विता के आयाम में आकार देना होगा। दस्तावेज में कहा गया है कि हम चीन के साथ बढ़ती प्रतिस्पर्धा में निष्पक्ष नियम चाहते हैं। (India Germany Relations)

दस्तावेज में ताइवान, शिंजियांग और हांगकांग के मुद्दों का भी जिक्र

गठबंधन दस्तावेज में यह भी उल्लेख किया गया है कि चीनी विदेश नीति से हमारी अपेक्षा यह है कि यह अपने पड़ोस में शांति और स्थिरता के लिए एक जिम्मेदार भूमिका निभाएगा। हम यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं कि दक्षिण और पूर्वी चीन सागर में क्षेत्रीय विवादों को किस आधार पर सुलझाया जाए। दस्तावेज में ताइवान, शिंजियांग और हांगकांग के मुद्दों का भी जिक्र किया गया है। इसके मुताबिक, ताइवान की जलडमरूमध्य में यथास्थिति में बदलाव केवल शांतिपूर्वक और आपसी सहमति से हो सकता है। (India Germany Relations)

हरित भारत के प्राथमिक प्रतिपाद्य के रूप में सिडबी ने स्वावलंबन चैलेंज फंड के दूसरे गवाक्ष का शुभारंभ किया

4 दिसंबर को होने वाली PM की रैली को लेकर CM ने किया परेड ग्राउंड का निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशा निर्देश

मालदीव में एक साथ छुट्टियां मना रहे अर्जुन और मलाइका, इंस्टाग्राम स्टोरी से खुली पोल

मायावती ने भाजपा, सपा व कांग्रेस पर बोला हमला, सत्ता में आने के बाद भूल जाते हैं जनता से किए वादे

Uttarakhand: बीजेपी में शामिल हो सकता है कांग्रेस का ये बड़ा दिग्गज नेता, सियासी हलचल तेज

Related News

--Advertiesment--

img